जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, शिमला

जिला ग्रामीण विकास अभिकरण (डीआरडीए) पारंपरिक रूप से विभिन्न गरीबी कार्यक्रमों के कार्यान्वयन की निगरानी के लिए जिला स्तर पर प्रमुख अंग है। इसकी स्थापना के बाद से, डीआरडीए का काये प्रशासनिक लागत को प्रत्येक कार्यक्रम के लिए आवंटन के हिस्से को अलग करने के तरीके को सुचारू करने का है। जिला ग्रामीण विकास एजेंसी 2012 के वर्ष में ग्रामीण विकास विभाग में विलय हो गई। जिला ग्रामीण विकास एजेंसी को एक विशेष और एक पेशेवर एजेंसी के रूप में देखा जाता है जो एक तरफ ग्रामीण विकास मंत्रालय के गरीबी उन्मूलन कार्यक्रमों के प्रबंधन में सक्षम है और प्रभावी ढंग से संबंधित है ये जिले में गरीबी उन्मूलन के समग्र प्रयास के लिए हैं।

अधिक जानकारी हेतु कृपया जिला ग्रामीण विकास अभिकरण (डीआरडीए) शिमला से अथवा 0177-2657015 पर संपर्क करें !

योजनाएं और कार्यक्रम

क्रम०स० योजनाओं के नाम वेबसाइट लिंक
1 मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम) www.nrega.nic.in
2 पीएमएवाई (जी) प्रधान मंत्री आवास योजना (ग्रामीण) www.iay.nic.in
3 एसबीएम (जी) स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) www.swachbharatmission.gov.in
4 एनआरएलएम (राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन) www.nrlm.gov.in
5 एसऐजीवाई (संसद आदर्श ग्राम योजना) www.saanjhi.gov.in
6 एमएमएवाई (मुख्य मंत्री आवास योजना) —-
7 आरऐवाई (राजीव आवास योजना) —–
8 आरऐवाईआर (राजीव आवास योजना के तहत सदनों की मरम्मत) —-
9 एमएमऐवाई (मुख्य मंत्री आदर्श ग्राम योजना) —-